बचपन के दोस्त केशव बनर्जी ने बताया, धोनी ने इस वजह से अचानक लिया क्रिकेट से संन्यास

MS Dhoni  Image Source : GETTY

इस साल अगर टी 20 विश्व कप होता, तो महेंद्र सिंह धोनी जरूर उसमें खेलते। यह मानना है कि धोनी के बचपन के कोच केशव बनर्जी का। धोनी ने शनिवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने वाले धोनी ने पिछले साल जुलाई में विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मुकाबले के बाद से एक भी मैच नहीं खेला था।

स्कूल के दिनों से ही धोनी को जानने वाले बनर्जी ने धोनी के गृहनगर रांची से फोन पर आईएएनएस से कहा, " अगर इस साल यह (टी 20 विश्व कप) होता, तो वह इसमें खेलते। ऐसा मेरा मानना है।"

उन्होंने कहा, " वह विश्व कप के बाद अपना फैसला लेते। देखिए उनके दिमाग को पढ़ना मुश्किल है, लेकिन अगर आप मुझसे पूछें तो वह खेलते।"

टी 20 विश्व कप का आयोजन इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

धोनी ने आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स के अपने टीम साथियों के साथ जुड़ने के एक दिन बाद ही संन्यास की घोषणा की।

धोनी के फैसले के बारे में पूछे जाने पर बनर्जी ने कहा, " कोई भी उनके दिमाग को नहीं जानता है। वह हमेशा एक अंतमुर्खी रहे हैं। जब वे रांची में थे, तो मैंने उनसे कई बार बात की, लेकिन हमने कभी क्रिकेट पर बात नहीं की। जब माही घर पर होते हैं, तो वह क्रिकेट पर बात नहीं करना चाहते हैं। "

उन्होंने कहा, " इस समय भारतीय क्रिकेट के लिए यह एक नुकसान है। जब तक भारत को विश्वसनीय विकेटकीपर नहीं मिल जाता, तब तक यह मुश्किल होगा। इस जगह को भरना होगा।"

बनर्जी ने कहा, " मैं उन्हें 28 साल से जानता हूं। मैं उन्हें स्कूल की शुरूआती दिनों से ही जानता हूं, जब उन्होंने विकेटकीपिंग करना शुरू किया था। मेरे लिए, निश्चित रूप से यह एक भावुक समय है। वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की कठोरता को जानता है और उनका निर्णय हमेशा बुद्धिमान होता है। इसमें एक आश्चर्य भी है, उनका निर्णय और वह सबसे अच्छा जज हैं।"

बनर्जी ने साथ ही कहा कि अब धोनी खुले दिमाग से आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स टीम का नेतृत्व कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, " अब वह आईपीएल पर अधिक ध्यान लगा सकते हैं और खुल कर खेल सकते हैं। यह एक ऐसी चीज है, जिसके बारे में हमेशा बात हो रही थी कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके वह भारतीय टीम में लौट सकते हैं।"

धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट मैचों की 144 पारियों में 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए। टेस्ट में उनके नाम छह शतक और 33 अर्धशतक दर्ज है और उनका सर्वोच्च स्कोर 224 है।

वहीं, 350 वनडे मैचों की 297 पारियों में उन्होंने 50.57 की औसत से 10773 रन बनाए हैं। इसमें उनके नाम 10 शतक और 73 अर्धशतक दर्ज हैं। वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 183 हैं।

दुनिया के सबसे सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले धोनी ने 98 टी 20 मैचों में 37.60 की औसत से 1617 रन बनाए हैं। इसमें उनके नाम दो अर्धशतक हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 56 हैं।



from India TV Hindi: sports Feed https://ift.tt/3h0leu4
https://ift.tt/2FnxB5i via IFTTT
Previous Post Next Post