शीर्ष खिलाड़ियों के बिना महिला T20 चैलेंज नहीं होगा बेस्ट टूर्नामेंट : लिसा स्टालेकर

शीर्ष खिलाड़ियों के बिना महिला T20 चैलेंज नहीं होगा बेस्ट टूर्नामेंट : लिसा स्टालेकर Image Source : LISA FACEBOOK

ऑस्ट्रेलिया की पूर्व ऑलराउंडर लिसा स्टालेकर का मानना है कि संयुक्त अरब अमीरात में होने वाला महिला टी 20 चैलेंज जरुरी नहीं शीर्ष विदेशी खिलाड़ियों के बिना सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंट हो। महिला T20 चैलेंज यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के प्लेऑफ सप्ताह में खेला जाएगा। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में खेली जाने वाली महिला बिग बैश लीग 2020 का आयोजन 17 अक्टूबर से 29 नवंबर के बीच होना है। ऐसे में दोनों टूर्नामेंट की तारीख टकराने से उन खिलाड़ियों का नुकसान होगा जो दोनों ही टूर्नामेंट में खेलती हैं।

दोनों टूर्नामेंट की तारीखों के टकराने से महिला T20 चैलेंज में विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता चिंता का एक बड़ा कारण है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो ने स्टालेकर के हवाले से बताया, "दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि पहले से ही एक WBBL प्रतियोगिता होने जा रही है। वे दो काम कर सकते थे: वे जो कर रहे हैं उसके साथ जा सकते थे या दूसरी बात यह है कि वे छह या आठ टीमों को खोजने की कोशिश कर सकते थे और डब्ल्यूबीबीएल के बाद दिसंबर तक इसे होल्ड कर सकते थे।"

उन्होंने कहा, "मेरे लिए मुद्दा यह है कि T20 चैलेंज सबसे अच्छा टूर्नामेंट नहीं है क्योंकि आप ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों और संभवतः अन्य देशों के कुछ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को मिस करने वाले हैं, इसलिए टूर्नामेंट उतना अच्छा नहीं होगा जितना यह हो सकता है। हालांकि, क्रिकेटर भारतीय प्रतियोगिता अपने घरेलू खिलाड़ियों को बीच में कुछ समय बिताने का मौका दे सकेगी।"

गौरतलब है कि आइपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में फैसला हो चुका है कि महिलाओं के टी20 चैलेंज का आयोजन 1 नवंबर से 10 नवंबर के बीच UAE में ही किया जाएगा। इस बात से जहां भारतीय महिला खिलाड़ी काफी खुश हैं, वहीं कई विदेशी महिला क्रिकेटरों ने इस पर नाराजागी जताई है क्योंकि महिला टी20 चैलेंज और महिला बिग बैश लीग की तारीखें आपस में टकरा रही हैं।



from India TV Hindi: sports Feed https://ift.tt/3407ED4
https://ift.tt/33XYaZf via IFTTT
Previous Post Next Post